जन अधिकार पार्टी की बरेली इकाई ने जिलाधिकारी बरेली को दिया ज्ञापन, हर सोमवार को देते हैं ज्ञापन


जन अधिकार पार्टी की बरेली इकाई ने जिलाधिकारी बरेली को अपनी 15 सूत्री मांगों को लेकर अपना ज्ञापन सौंपा, ज्ञापन देने से पहले पार्टी पदाधिकारियों के द्वारा मोटरसाइकिल रैली निकाली गयी. पार्टी के बरेली प्रभारी ऋषिपाल मौर्य ने बताया की उनकी पार्टी उत्तरप्रदेश की सभी सीटों पर चुनाव लड़ेगी। प्रभारी ने बरेली की सभी सीटों पर चुनाव लड़ने का दावा भी किया। महासचिव ओमप्रकाश मौर्य ने कहा कि हमारी पार्टी जिसकी जितनी संख्या उसकी उतनी हिस्सेदारी की बात करने वाली पार्टी है। 

कार्यक्रम में जिला सचिव किशन श्रीवास्तव सहित कई अन्य प्रमुख लोग व समर्थक उपस्थित रहे, जिसमे सौरभ मौर्य, यादराम मौर्य, चंद्रपाल मौर्य, प्रेमपाल मौर्य, देवपाल मौर्य प्रमुख रूप से उपस्थित थे। 

जन अधिकार पार्टी ने ज्ञापन देकर निम्नलिखित मांगे रखी हैं...

01. जन अधिकार पार्टी लीग र में किसानों की बर्बर हत्या की भर्त्सना करती है, और दोषियों के
खिलाफ कडी कार्यवाही को माँग करती है।

02. बहन बेटियों पर हो रहे अन्याय अत्याचार तुरन्त रोका जाय और अन्याय अत्याचार दुर्व्यवहार करने

वालो से सरकार सख्ती से कार्यवाही करें।

03. सरकार नई शिक्षा नीति की आड़ में देश के पिछड़े और दलित, किसान मजदूर एवं अकलियत को

शिक्षा से वंचित करना चाहती है और उन्हे पुनः देश की चली आ रही वर्ण व्यवस्था की तरफ ले जाने

वाली है। जन अधिकार पार्टी नई शिक्षा नीति का पुरजोर विरोध करती है। ऐसे कानूनो को जो शिक्षा

से वंचित करता हो उसे तुरन्त वापस लिया जाये।

04. सरकार द्वारा पिछडों का आरक्षण मेडिकल सहित सभी क्षेत्रों में शून्य कर दिया गया है। इसे
तत्काल बहाल किया जाय, साथ ही जन अधिकार यह भी मांग करती है कि पिछड़े वर्ग में कीमिलेयर
की व्यवस्था समाप्त की जाये। यदि सरकार कीमिलेयर व्यवस्था लागू ही करना चाहती है तो कीमिलेयर
की सीमा शुद्ध बचत के हिसाब से कम से कम 45 लाख रूपये रखा जाय।
05. एम0 एस0 पी0 की गारण्टी के लिए कानून बनाये |
06. पेट्रोल-डीजल पर अधिरोपित टैक्स को व राज्य सरकार कम करें जिससे पेट्रोल-डीजल
सस्ता हो सकें ।

07. त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दौरान कोरोना संक्रमण के कारण मृतक सभी कर्मचारियों के परिवार के एक
सदस्य को सरकारी नौकरी तथा तत्काल एक करोड ( करोड़) की आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई जाए ।
08. पिछडो, दलितों, अल्पसंख्यकों की हत्याओं एवं उत्पीड़न को तत्काल रोका जाए।

08. केन्द्र सरकार द्वारा राष्ट्रीय सम्पत्तियों को, निजी क्षेत्रों की कम्पनिया,उद्योगपतियों को, कौडियों के दाम

बेंचा जा रहा है। इससे राष्ट्र की अपूर्णनीय क्षति होगी। इसे तत्काल से रोका जाय।

09. मजदूरों को ब्यवस्थित होने के लिए उन्हें कम से कम 45000,//- रुपए एक मुश्त दिए जाय और
7500 ,//- रुपए अगले एक वर्ष तक प्रतिमाह दिए जाय।
10. सामान्य वर्ग की तरह अन्य पिछडे वर्ग के छात्र - छात्राओं को छात्र वृत्ति प्रदान की जाए।
11. जन अधिकार पार्टी पूरे देश में शिक्षा का पाठ्यक्रम एक
समान किये जाने की मांग करती है और बेरोजगार नवयुवकों को रोजगार देने की मांग करती है।

12. किसानों को खाद, बीज व कीटनाशक दवायें उचित मूल्य पर उपलब्ध कराया जाय और सिंचाई के
लिए बिजली व्यवस्था निःशुल्क किया जाय।
स् अन्ना प्रथा (आवारा पशुओं) को बन्द किया जाये, जिससे किसानो की फसलों की सुरक्षा हो
सके।
13. छोटे व मझलें किसानों, दुकानदारों / व्यापारियों का कर्ज एवं बिजली का बिल माफ किया जाए।
14. किसानों के गन्ने का मूल्य का भुगतान तत्काल किया जाय।
15. शिक्षको की भर्ती में राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयाग द्वारा यह निष्कर्ष निकाला गया कि उ0प्र0 में
69000 शिक्षकों की भर्ती में अनियमितता की गयी है। जन अधिकार पार्टी पिछड़े वर्ग के अभ्यर्थियों को
तत्काल उनके कोटे के अनुसार नियुक्तियाँ प्रदान करने की माँग करती है।

Post a Comment

0 Comments