Skip to main content

Posts

Showing posts from January, 2019

सवर्ण आरक्षण के बहाने मोदी सरकार संविधान बदलना चाहती है. -ऊषा किरण बौद्ध

सावित्रीबाई महिला ब्रिगेड की बरेली, जिला अध्यक्ष, ऊषा किरण बौद्ध कहा है, कि आर्थिक आरक्षण के बहाने मोदी सरकार संविधान का आधार हिलाकर उसे बदलना चाहती है. उषा किरण बौद्ध ने कहा कि बाबा साहब ने आरक्षण सामाजिक गैर बराबरी और छुआछूत को खत्म करने के लिए दिया गया था न कि गरीबी दूर करने के लिए. सिर्फ 72 घंटे में आरक्षण लागू करके मोदी सरकार ने दिखा दिया कि वह सवर्णों की सरकार है. उन्होंने आगे कहा कि दलितों के साथ आज भी भेदभाव होता है और उन्होंने क्या-क्या कहा जानने के लिए ऊपर का वीडियो जरूर देखें. -द फाइंडर, ब्यूरो रिपोर्ट

आखिर सच निकली ईवीएम हैकिंग की बात , हैकर सैयद सूजा ने सुनाई पूरी कहानी

2014 में ईवीएम हैक की गई थी और उसके द्वारा मोदी सरकार बनी थी, यह दावा भारतीय मूल के अमेरिकी शरणार्थी सैयद सुजा ने किया है. उसने कहा है कि वह इलेक्ट्रॉनिक्स कम्युनिकेशन इंडिया लिमिटेड के लिए काम करता था. जहां उससे ईवीएम हैकिंग के लिए कहा गया. उन्हें बताया गया कि आप ईवीएम हैक करके दिखाओ जिससे कि बेहतर मशीन बनाई जा सके. पर जब उन्होंने एटीएम हैक कर दी, तो इसका इस्तेमाल चुनाव में हैकिंग के लिए किया गया. उसने सभी पार्टियों पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं और कहा है कि सभी पार्टियां ईवीएम हैक करना चाहती थी. उसने कहा कि वह इस समय शरण लेकर अमेरिका में रह रहा है और कहा कि उसके 12 दोस्तों की भाजपा नेता द्वारा हत्या की जा चुकी है.  मामले पर अभी तक सरकार ने कोई जांच नहीं बैठाई है. अब देखना होगा कि सरकार इस पर कब जांच बैठाती है या बैठाती भी है या नहीं? - ब्यूरो रिपोर्ट, द फाइंडर

अंतरराष्ट्रीय बौद्ध ध्वज - पंचशील झंडे का इतिहास क्या है?

अंतरराष्ट्रीय बौद्ध ध्वज - पंचशील झंडे का इतिहास क्या है पंचशील झंडे को कब बनाया गया किसने बनाया क्या है पंचशील झंडे के पीछे की पूरी कहानी.  पंचशील झंडे का पूरा इतिहास आप इस वीडियो के माध्यम से जान सकते हैं.  द फाइंडर आपके लिए अंतरराष्ट्रीय बौद्ध ध्वज का इतिहास लेकर आया है. - ब्यूरो रिपोर्ट, द फाइंडर

सवर्ण जातिवाद को समझने के लिए, सवर्ण गरीब और दलित गरीब के अंतर को समझइये

सवर्ण गरीब और दलित गरीब दोनों की परिभाषा जो भाजपा सरकार द्वारा निर्धारित की गई है उसे जानने के बाद आप समझ जाएंगे कि सवर्ण आरक्षण के नाम पर देश के साथ कितना बड़ा धोखा हो रहा है. जहां दलित और पिछड़े गरीब तब माने जाएंगे जब उनकी आए 18000 प्रति वर्ष से कम होगी वहीं सवर्ण को गरीब मानने के लिए सरकार ने आय सीमा 8 लाख प्रतिवर्ष से कम रखी है. - द फाइंडर ब्यूरो

सम्राट अशोक देशद्रोही और नपुंसक था. -कवि अमित शर्मा

देशद्रोही कवि अमित शर्मा ने विश्व के सबसे महानतम सम्राट विश्व विजेता सम्राट अशोक महान पर अशोभनीय टिप्पणी की है. उसने भारत में मुसलमानों के आगमन के लिए और भारत में पहले आतंकवाद के लिए सम्राट अशोक महान को दोषी माना है. इससे पता चलता है की यह कवि, जोकि एबीवीपी कार्यकर्ता है, किस बुरी तरह संघ के विघटन वादी विचारधारा से प्रेरित है. इस तरह के लोगों का सामाजिक बहिष्कार होना चाहिए जो सम्राट अशोक जैसे महान सम्राट पर इस तरह की टिप्पणियां करें.

मंदिर नहीं, पुस्तकालय जाओ

जिस दिन मंदिर में जाने वाली भीड़, पुस्तकालय की ओर जाएगी, उस दिन भारत विश्व में महाशक्ति बन जाएगा.- बाबा साहब भीमराव अंबेडकर

महामना ज्योतिबा फुले के महान विचार

दबे कुचले वर्गों में बुद्धिमता नैतिकता, प्रगति एवं समृद्धि विकास करने हेतु शिक्षा की आवश्यकता सर्वाधिक है. -महामना ज्योतिबा फुले

मौर्य साम्राज्य- विश्व का सबसे शक्तिशाली एवं न्याय प्रिय साम्राज्य

विश्विवजेता सम्राट अशोक का शासन अफगानिस्तान पाकिस्तान ईरान आधुनिक भारत नेपाल बर्मा श्री लंका मलेशिया इंडोनेशिया आदि देशों तक फैला था. भारत की आबादी उस समय 5 करोड़ थी जो विश्व आबादी का 33% थी.

क्रांति ज्योति माता सावित्रीबाई फुले का एक महान विचार

mata savitri bai phule वह मुझ पर पत्थर फेंकते रहे मैं भारत की बेटियों को पढ़ाती गई. - माता सावित्री बाई फुले